छत्तीसगढ़ के किसान दिनकर के जीवन में आई बहार, 1लाख 75 हजार रूपए का कर्जा माफ, लिया टैक्टर, बेटे को मिला रोजगार

Buero Report

कवर्धा :

छत्तीसगढ़ के किसान दिनकर के जीवन में आई बहार, 1लाख 75 हजार रूपए का कर्जा माफ, लिया टैक्टर, बेटे को मिला रोजगार

किसान दिनकर ने कहा: – छत्तीसगढ़ में नई सरकार बनने के बाद किसानों के लिए हुआ नया सबेरा

 

छत्तीसगढ़ के कबीरधाम जिले के एक छोटे से गांव नेवारी के रहने वाले किसान दिनकर साहू के जीवन में आज बदलाव देखने को मिल रहा है। सचमूच इस किसान के अच्छे दिन आ गए है। दो साल पहले उनकी आर्थिक स्थिति बदहाल थी, उनके उपर एक लाख 75 हजार रूपए का कर्जा था। उनका बड़ा लड़का बेरोजगार था। कर्जा लेकर खेती-बाड़ी करने वाले इस किसान ने कभी यह नहीं सोचा था, कि उनका कर्जा एक रात में माफ हो जाएगा। कहते है कि शाम ढलते ही रात की अंधियारें को चिरते हुए सूरज जरूर निकला है। इसी आस में यह किसान भी बैठा हुआ था। किसान दिनकर साहू के साथ ऐसा ही हुआ। किसान दिनकर ने बताया कि दो साल पहले आज ही के दिन 17 दिसम्बर 2018 को छत्तीसगढ़ के किसानों के लिए प्रदेश में नया सवेरा आया। किसानों के लिए नया सूरज निकला। छत्तीसगढ़ में नई सरकार बनते ही किसानों का कर्जा माफ हुआ। इस कर्जा माफ में इस किसान का भी 1 लाख 75 हजार रूपए माफ हुआ।
किसान दिनकर ने बताया कि जब उन्हे किसानों का कर्जा माफ होने की खबर मिली तब उन्होने सपने में भी नहीं सोचा था कि छत्तीसगढ़ की भूपेश सरकार एकाएक एक ही रात में ही किसानों को कर्जा से मुक्त कर देंगे। लेकिन हमारे सपने सच हुए और कर्जा से मुक्ति मिली। धान का 25 सौ रूपए प्रति क्विंटल का सही दाम भी मिला। उन्होने बताया कि यह दौर हम जैसे किसानों के लिए सचमूच राम राज से कम नहीं था। पहली ही साल में कर्जा माफ और 25 सौ रूपए धान का सही दाम मिला इससे किसानों की आमदनी सचमुच दोगुनी हो गई।
किसान दिनकर अपनी खुशी और तरक्की साझा करते हुए बताया कि दो साल के भीतर कर्जा माफ का लाभ लेकर उन्होने एक ट्रेक्टर लिया। इससे पहले वह किराए से ट्रेक्टर लेकर खेती-किसानी करता था। इससे खेती लागत बढ़ जाती थी। लेकिन स्वयं का ट्रेक्टर लेने से खेती-किसानी की लागत कम हुई और आमदनी दोगुनी हो गई। एक बेरोजगार बेटे को इससे रोजगार मिल गया और खेती किसानी की ओर लौट आया है। पहले वह बहुत उदास और निराश था लेकिन रोजगार मिलने के बाद उनके चेहरे में चमक लौटी है। उन्होने बताया अपनी खेती-किसानी के साथ-साथ अन्य छोटे किसानों को ट्रेक्टर किराए में देते है, इससे अलग से आमदनी हो जाती है। उन्होने चर्चा करते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ की सरकार किसानों को सही दिशा दे रहे है, इससे किसानांें की दशा सुधर रही है। सचमुच भूपेश सरकार किसानों के हित में अच्छा काम कर रहे है। अब हम छत्तीसगढ़िया किसान अभिमान और स्वाभिमान के साथ आगे बढ़ रहे है।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

Please Share This News By Pressing Whatsapp Button 

error: Content is protected !!
Buero Report
लोकल खबरें