अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझी

Buero Report

अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझी

रिपोर्टर- गोविंद सिंगरौल

तख़तपुर के कौशिक सामुदायिक भवन के पास मिले लाश के अंधे कत्ल की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है।मामले में एक 25 वर्षीय युवकों को गिरफ्तार किया गया है।युवक ने उसकी हत्या महज चंद रुपयों के लालच में कर दी थी।

प्राप्त जानकारी के अनुसार तख़तपुर में 1फरवरी को दोपहर में वार्ड 12 में स्टेट बैंक के पास काम कर रहे मजदूर महिलाओ ने एक अज्ञात व्यक्ति की लाश देखी थी।पुलिस ने मामले में हत्या का अपराध दर्ज काट लाश की पहचान के लिए सोशल साइट में खबर चलवाई। इससे लाश की पहचान मुंगेली निवासी 50 वर्षीय परदेसी मल्लाह के रूप में हुई।उसके परिवार वालो ने मुंगेली थाने में उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट लिखाई थी।परिवार वालो ने रिपोर्ट में बताया था कि 31 जनवरी की सुबह परदेसी मुंगेली से बिलासपुर सिरगिट्टी मछली बेचने निकला था और शाम को बस से वापस आने की बात कही थी,लेकिन घर नही आया।

तख़तपुर थाना अन्तर्गत नगर के वार्ड 12 में मिले लाश की पहचान हो जाने के बाद आरोपियों की पता तलाश में लगी पुलिस को किसी तरह का सुराग हाथ नही लग रहा था।पुलिस बस वालों और अन्य साधनों वाले से पूछ ताछ कर रही थी। इसी बीच तख़तपुर नगर के पुराने बस स्टैंड में व्यापारी द्वारा लगवाए गए सीसीटीवी कैमरे में 31 जनवरी की रात मृतक परदेसी मल्लाह एक युवक के साथ घूमते दिखाई दिया।युवक की पहचान कर कड़ाई से पूछ ताछ करने पर युवक ने घटना दिनांक की सारी कहानी बयान कर दिया।

आरोपी मनीष श्रीवास पिता गौतम श्रीवास निवासी जरहगांव उम्र 25 वर्ष ने बताया कि घटना की रात मृतक और आरोपी दोनो बस नही मिलने से एक पिकअप में बैठकर एक साथ आये और तख़तपुर के पुराने बस स्टैंड में उतरे चूंकि मृतक को मुंगेली और आरोपी को जरहागांव जाना था तो दोनो एक साथ साधन की तलाश कर रहे थे लेकिन कोई साधन नही मिलने से दोनो बेलसरी जाने के लिए निकले।बिलासपुर से वापसी के दौरान बातों बातों में आरोपी को मृतक ने बताया था कि वह मछली बेचकर आ रहा है।इससे आरोपी को अनुमान हो गया था कि मृतक परदेसी के पास रुपये होंगे ।तख़तपुर उतरकर आगे के लिए साधन नही माइन से पहले दोनो ने शराब पी उसके बाद बेलसरी जाने के लिए निकले ।इस समय दोनो के बीच किसी बात को लेकर विवाद हुआ ।पहले से पैसे के लिए ललचाये मनीष ने पत्थर से परदेसी की हत्या कर दी और पैसे निकाल कर लाश को कौशिक सामुदायिक भवन के पीछे छोडकर चल गया।सीसीटीवी ने एक बार फिर पुलिस की तीसरी आंख के रूप में काम किया और एक हत्या के मामले को सुलझाने में मदद की ।आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर न्यायालय में प्रस्तुत कर रिमांड पर जेंल भेज दिया गया है।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

Please Share This News By Pressing Whatsapp Button 

error: Content is protected !!
Buero Report
लोकल खबरें