सागर मईया  में स्नान करने से मिट जाते है दाद खाज खुजली,सागर सरोवर में लगता है मेला।

Buero Report

सागर मईया  में स्नान करने से मिट जाते है दाद खाज खुजली,सागर सरोवर में लगता है मेला।

रिपोर्टर- गोविंद सिंगरौल –

तख़तपुर जनपद के ग्राम पंचायत सागर में 40 एकड़ में फैले तालाब का अपन दैवीय महत्व है।ऐसी मान्यता है कि इसमे स्नान करने से किसी भी प्रकार का चरम रोग ठीक हो जाता है ।इसी दिव्य प्रभाव के कारण यहाँ लोग दूर दूर से आते हैं और प्रतिवर्ष यहाँ माघ पूर्णिमा में तीन दिवसीय मेला लगता है।

तखतपुर क्षेत्र से 20 किलोमीटर की दूरी पर स्थित ग्राम पंचायत सागर के एक तालाब जिसे लोग यहां श्रद्धा से सागराम्बा करके बुलाते हैं ,अपनी देवी और चमत्कारी शक्तियों के कारण श्रद्धा का केंद्र बना हुआ है। हर वर्ष यहां माघ पूर्णिमा पर तीन दिवसीय मेले का आयोजन होता है। 40 एकड़ में फैले इस तालाब की मान्यता है कि माघ पूर्णिमा के दिन इसमें स्नान करने वाले व्यक्ति की त्वचा से संबंधित सारी व्याधि दूर हो जाती है और इसके अलावा उसके द्वारा मांगी गई मन्नते मां सागराम्बा की कृपा से पूर्ण हो जाती हैं।

इसी परिपाटी के तहत आज माघ पूर्णिमा के दिन ग्राम पंचायत सागर के सागराम्बा तालाब के किनारे तीन दिवसीय मेले का शुभारंभ हुआ। मेले की शुरुआत आज प्रातः माँ सागराम्बा की महा आरती के साथ हुआ ।इसके बाद आए हुए लोगों को प्रसाद वितरण किया गया ।बाबा गोसाई आश्रम के द्वारा दूर दराज से आए हुए लोगों के लिए भंडारे की व्यवस्था की गई है।

माँ सागराम्बा की बड़ी है ख्याति

धर्म जागरण विभाग के प्रमुख सुरेश पांडेय के द्वारा बताया गया कि यहां की पौराणिक मान्यता है कि माघ पूर्णिमा के दिन सभी देवी देवता महासागर अंबा में स्नान करने आते हैं । उनके स्नान करने के बाद इसमें स्नान करने वाले लोगों के सभी मनोरथ पूर्ण होते है। मां सागराम्बा की महिमा बहुत निराली और अपरंपार है। लोग यहां दूर-दूर से अपनी त्वचा से संबंधित बीमारियों से निजात पाने के लिए आते हैं। मां सागराम्बा में स्नान करते ही तरह-तरह के इलाज से भी ठीक नहीं होने वाले चर्म रोग मां की कृपा से ठीक हो जाते हैं। जिन्हें मां की कृपा से राहत मिलती है वह यहां पुनः आने की मन्नतें मांगते हैं। माँ सागराम्बा न केवल चर्म रोगों से छुटकारा दिलाती है वरन् किसी भी प्रकार की अन्य मनोकामनाओं की भी पूर्ति करती हैं।

 

हमारी समिति के द्वारा यहाँ आने वाले श्रद्धालुओं के लिए भोजन प्रसाद और भंडारे की व्यवस्था की जाती है। आज के दिन तालाब के चारों ओर श्रद्धालुओं का रेला और मेला लगा रहता है ।यह मेला तीन दिवस तक चलता है ।मा सागराम्बा की कृपा से आने वाले सभी श्रद्धालुओं के मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं।

यह रहे उपस्थित

आज की महा आरती में प्रमुख रूप से आयोजक सुरेश पाण्डेय धर्म जागरण विभाग प्रमुख बिलासपुर, जिला पंचायत सदस्य घनश्याम कौशिक, डॉ प्रमोद तिवारी, डॉ निलय तिवारी , शिवबालक कौशिक महामंत्री कांग्रेस, राजेश तिवारी हिन्दू जागरण मंच, राजेश तम्बोली प्रदेश युवा सदस्य, अश्वनी शर्मा अध्यक्ष ब्राम्हण समाज तखतपुर, दिलीप तोलानी छत्तीसगढ़ श्रमजीवी पत्रकार संघ तखतपुर ब्लॉक अध्यक्ष, महेंद्र तिवारी, समस्त ग्रामवासी सागर व गाँव एवं दूर दराज से आये सभी श्रद्धालु भक्तगण उपस्थित रहे

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

Please Share This News By Pressing Whatsapp Button 

error: Content is protected !!
Buero Report
लोकल खबरें