प्रवासी मजदूर सीधे अपने घर लौट रहे। क्वारंटाइन सेंटर बनाने की बजाए सरकार सो रही है : रामकुमार गंधर्व

Buero Report

प्रवासी मजदूर सीधे अपने घर लौट रहे। क्वारंटाइन सेंटर बनाने की बजाए सरकार सो रही है : रामकुमार गंधर्व

मुंगेली – आम आदमी पार्टी के पूर्व विधानसभा प्रत्याशी, एवं जिलाध्यक्ष रामकुमार गंधर्व ने प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से सरकार को आगाह किया कि, राज्य के अन्य राज्यों को पलायन करने वाले श्रमिक प्रतिदिन बड़ी संख्या में वापस सीधे अपने घरों में लौट रहे हैं। कोरोना संक्रमण के मद्देनजर यह बेहद खतरनाक स्थिति है और राज्य सरकार सो रही है।
गत वर्ष जब देश भर में कोरोना महामारी की वजह से हाहाकार मचा हुआ था और देश भर में एक साथ लॉक डाउन हुआ तब छत्तीसगढ़ में संक्रमण की दर बहुत मामूली थी, पर जब प्रवासी श्रमिकों की घर वापसी हुई तब संक्रमण की रफ्तार तीव्र हो गई।
कोरोना संक्रमण की इस दूसरी लहर के दौरान देश के अन्य राज्यों में अलग अलग समय पर लॉक डाउन हो रहा है, और रेल सेवाएँ बदस्तूर जारी हैं इस वजह से अन्य राज्यों से प्रवासी मजदूर क्रमशः छत्तीसगढ़ वापस आ रहे हैं और सीधे अपने घर वापस जा रहे हैं।
श्री गंधर्व ने आगे कहा कि पिछली बार सरकार के द्वारा प्रवासी मजदूरों के लिए क्वारंटाईन सेंटर बनाए गए थे जिसकी पूर्ण जुम्मेदारी ग्राम सरपंच को दिया गया था, किन्तु शासन की ऒर से क्वारेंटाईन सेंटर में किये गए खर्च का एक भी रुपये शासन की ओर से पंचायत को नही दिया गया है, जिसके कारण आज भी ग्राम प्रधान व्यपारी और लोगो का कर्जदार है, श्री गंधर्व ने आगे कहा कि, जिसकी वजह से ग्रामीण अंचलों में कोरोना संक्रमण की दर कम थी।इस बार क्वारंटाइन सेंटर नहीं बनाए गए हैं,चूंकि ग्राम प्रधानों ने हाथ खड़े कर लिए है ,फलस्वरूप ग्रामीण क्षेत्रों में भी संक्रमण की दर बढ़ रही है।
इस बार जो प्रवासी मजदूर वापस आ रहे हैं उनसे बात करने पर उनका कहना है कि, पिछली बार के उनके क्वारंटाइन सेंटर का अनुभव बहुत कड़वा था।सेंटरों में खानपान सहित अन्य सुविधाओं की दयनीय स्थिति थी इसके अलावा सेंटर के कर्मचारियों एवं ग्रामीणों का हम लोगों के साथ व्यवहार भी बहुत खराब था।अगर सरकार ठीक ठाक क्वारंटाइन सेंटरों की व्यवस्था बनाए तो हम अपने परिजनों को खतरे में डालने घर क्यों जाएँगे।
श्री गंधर्व ने सरकार से मांग की है, कि तत्काल मूलभूत सुविधाओं वाले क्वारंटाइन सेंटर प्रवासी श्रमिकों के लिए बनाए जाएं ताकि लॉक डाउन के दौरान कोरोना संक्रमण के चैन को प्रभावशाली तरीके से तोड़ा जा सके।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

Please Share This News By Pressing Whatsapp Button 

error: Content is protected !!
Buero Report
लोकल खबरें