सक्ति थाना के आरक्षक पुष्पराज सिंह की मौत की CBI जाँच हो-रामकुमार गंधर्व

Buero Report

सक्ति थाना के आरक्षक पुष्पराज सिंह की मौत की CBI जाँच हो-रामकुमार गंधर्व

मुंगेली – आम आदमी पार्टी के पूर्व विधानसभा प्रत्याशी एवं जिलाध्यक्ष रामकुमार गंधर्व ने प्रेस विज्ञप्ति जारी करते हुए जानकारी दी कि आज पार्टी के प्रदेश सचिव उत्तम जायसवाल और प्रदेश सह संगठन मंत्री श्रीमती दुर्गा झा के द्वारा महामहिम राज्यपाल को जांजगीर जिले के सक्ति थाना क्षेत्र के आरक्षक पुष्पराज सिंह की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत की CBI जाँच कराए जाने हेतु ज्ञापन सौंपा।


उन्होंने यह भी जानकारी दी कि मुंगेली जिला अध्यक्ष राम गंधर्व द्वारा मृत आरक्षक के परिवार से बात की गई।मृतक के पिता श्रीसीताराम और भाई जगदीप सिंह ने खुलकर आरोप लगाया कि चूँकि पुष्पराज ने विगत वर्ष पुलिस परिवार आंदोलन में सक्रिय भागीदारी निभाई थी इसके अलावा वे डिपार्टमेंट के अंदर भ्रष्टाचार को लेकर हमेशा भ्रष्ट पुलिस अधिकारियों के खिलाफ आवाज बुलंद करते रहते थे जिससे परेशान होकर वर्तमान एस पी, थाना प्रभारी सक्ति और SDO(P) ने पुष्पराज की हत्या का षड्यंत्र रचा।
मृतक परिजनों का कहना है कि वे पहले भी सोशल मीडिया में अपनी हत्या की आशंका जताते रहे हैं और हाल ही में वे पुलिस डिपार्टमेंट के बड़े भ्रष्टाचार को उजागर करने वाले थे।मृत्यु के एक दिन पहले भी वे परिवार से अपनी हत्या की आशंका जता चुके थे।
मृतक के भाई ने यह भी बताया कि पुष्पराज ने गत वर्ष कोरोना महामारी के दौरान अपने एक वर्ष का वेतन मुख्यमंत्री राहत कोष में दान कर दिया था।
आम आदमी पार्टी मुंगेली के जिला उपाध्यक्ष विजयपाल सिंह ठाकुर , एवं परमानंद साहू ,ने कहा कि जो भी जानकारी पुष्पराज के बारे में मिल रही है उससे यह स्पष्ट होता है कि पुष्पराज न केवल ईमानदार,कर्तव्यनिष्ठ पुलिस कर्मचारी थे बल्कि सामाजिक रूप से भी सजग और जिम्मेदार व्यक्ति थे जिन पर सारे डिपार्टमेंट को गर्व होना चाहिए।पर पुलिस डिपार्टमेंट उनके परिजनों के आरोपों को दरकिनार कर मामले की लीपापोती में लग गई है।घटना की न्यायिक जांच होगी और जिन पुलिस अधिकारियों पर मृतक के परिवार ने गंभीर आरोप लगाए हैं अब भी अपनी जगहों पर बने हुए हैं और न्यायिक जाँच भी उन्हीं के माध्यम से होना है तो इससे सच्चाई कैसे सामने आएगी?
आम आदमी पार्टी यह मानती है कि अगर पुष्पराज की हत्या हुई है तो यह केवल एक पुलिस कर्मचारी की मौत नहीं है बल्कि यह ईमानदारी और सच्चाई की मौत है।
अतः आम आदमी पार्टी माननीय मुख्यमंत्री से मांग करती है कि अगर वे वास्तव में एक ईमानदार सरकार चला रहे हैं तो एक ईमानदार पुलिस कर्मचारी की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत की निष्पक्ष जांच हेतु पहले एस पी, थाना प्रभारी,SDO(P) को निलंबित करें और जाँच के लिए केंद्र सरकार को पत्र लिखकर CBI जाँच की मांग करें।जबकि मृतक के परिजन भी महामहिम राज्यपाल से CBI जाँच की मांग कर चुके हैं।
यह काम गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू जी को अब तक कर लेना था पर अपने ही अधीन डिपार्टमेंट में व्याप्त भ्रष्टाचार को नियंत्रित करने में उनकी असफलता एक तरह से भ्रष्टाचार का संरक्षण ही है अतः आम आदमी पार्टी यह भी मांग करती है कि उन्हें कैबिनेट से बर्खास्त किया जाए।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

Please Share This News By Pressing Whatsapp Button 

error: Content is protected !!
Buero Report
लोकल खबरें