आजादी के 73 साल बाद भी जिले में पेयजल के लिए दर्जनों गांव की हालत सुपेबेड़ा से भी बद्तर- रामकुमार गंधर्व

Buero Report

 

आजादी के 73 साल बाद भी जिले में पेयजल के लिए दर्जनों गांव की हालत सुपेबेड़ा से भी बद्तर, रामकुमार गंधर्व

मुंगेली- आम आदमी पार्टी विधानसभा के पूर्व प्रत्याशी एवं जिलाध्यक्ष रामकुमार गंधर्व ने जिले के ग्राम पंचायत चालान, धनगॉव, चातरखार,नेवासपुर,बरबसपुर,
जेठूकापा, कोदूकापा, घोरपुरा, पुरान, निरजाम, कोहड़िया, निवासियों के लिए चिंता व्यक्त करते हुए , राज्य ,व केंद्र सरकार को आड़े हाथ लेते हुए जमकर घेरा , श्री गंधर्व ने कहा कि ,छत्तीसगढ़ में केंद्र और राज्य सरकारे सत्ता पाने की लालच में जनता से बड़ी बड़ी वादे तो करते है, किंतु सत्ता में आने के बाद इनकी करनी और कथनी में जमीन आसमान का अंतर है , यह दोनों सरकारे हर मोर्चे में फेल है देश को सुदृण बनाने में शिक्षा, स्वास्थ, बिजली , पानी , सड़के रोजगार, आदि महत्वपूर्ण है, एक तरफ सरकारे करोड़ो रूपये इन योजनाओं में खर्च करती है वही दूसरे तरफ उपरोक्त ग्राम पंचायत शासन की योजनाओं का कलई खोल रही है ,
श्री गंधर्व ने आगे कहा कि जिला मुख्यालय से महज 10 किलोमीटर की दूरी में बसे इन गांवों में आजादी से लेकर अब तक पीने के पानी को लेकर ग्रामीण अत्यंत परेशान है ,ग्रामीणों के द्वारा सांसद, विधायक, कलेक्टर, मुख्यमंत्री, को भी अवगत करा चुके है किंतु निराशा ही हाथ लगी है , ग्रामीणों को झूठे आश्वासन के अलावा कुछ भी नही मिला है , जो बेहद शर्मनाक है ,उपरोक्त ग्राम पंचायत के ग्रामीणों ने बताया कि गॉव से महज दो किलोमीटर के दूरी में पीने का मीठा पानी उपलब्ध है जिसे पाईपलाइन के द्वारा गांव तक असानी से उपलब्ध कराया जा सकता है किंतु सरकारों की मंशा ठीक नही होने के कारण यहां के नागरिक जल संकट की सजा काट रहे है ,
श्री गंधर्व ने ग्रामीणों के प्रति अपने संवेदना व्यक्त करते हुए आगे कहा कि केंद्र और राज्य सरकार से आम आदमी पार्टी यह मांग करती है कि जल्द से जल्द पेयजल की स्थायी और उचित व्यवस्था करे अन्यथा आम आदमी पार्टी ग्रामीणों को साथ लेकर आंदोलन करेगी ।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

Please Share This News By Pressing Whatsapp Button 

error: Content is protected !!
Buero Report
लोकल खबरें