प्रदेश भारतीय जनता युवा मोर्चा के आह्वान पर जिला अध्यक्ष निखिल केशरवानी जी के नेतृत्व में तख़तपुर भारतीय जनता युवा मोर्चा के द्वारा विधायक कार्यालय के सामने तख्ती, फ्लेक्स, व नारो के माध्यम से प्रदर्शन किया गया…

Buero Report

प्रदेश भारतीय जनता युवा मोर्चा के आह्वान पर जिला अध्यक्ष निखिल केशरवानी जी के नेतृत्व में तख़तपुर भारतीय जनता युवा मोर्चा के द्वारा विधायक कार्यालय के सामने तख्ती, फ्लेक्स, व नारो के माध्यम से प्रदर्शन किया गया…

गोविंद सिंगरौल- 
तखतपुर- प्रदेश भारतीय जनता युवा मोर्चा के आह्वान पर जिला अध्यक्ष निखिल केशरवानी जी के नेतृत्व में तख़तपुर भारतीय जनता युवा मोर्चा के द्वारा छत्तीसगढ़ के 70 कांग्रेसी विधायको के निवास में जाकर उनसे ढाई वर्ष पूर्व जो उन्होंने छत्तीसगढ़ की जनता से वादा किया था उसे पूरा करने की मांग की, और समस्त विधायको को याद दिलाया कि गंगा जल की कसम खाकर उन्होंने शराबबंदी का वादा किया था, जो आज पर्यंत पूरा नहीं हो पाया है ।

उसके उलट घर घर पहुचाने का काम कर रही है, उसी क्रम में भारतीय जनता युवा मोर्चा के युवा मोर्चा की टीम आज तखतपुर में विधायक श्रीमती रश्मि आशीष सिंह ठाकुर जी के कार्यालय के सामने तख्ती, फ्लेक्स, व नारो के माध्यम से प्रदर्शन किया गया… इस प्रदर्शन में जिला उपाध्यक्ष रौशन सिंह, जिला महामंत्री तिलक देवांगन, जिले के समस्त भाजयुमो प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य रितेश सिंघल, अनमोल झा, केतन सिंह, सिद्धार्थ शुक्ला,राहुल सराफ, अभिषेक चौबे, जिला कार्यसमिति सदस्य सुनील साहू, पार्षद कोमल सिंह ठाकुर, तखतपुर युवा मोर्चा मण्डल अध्यक्ष अजय यादव, विजयपुर युवा मोर्चा मंडल अध्यक्ष कामता कुलमित्र, गनियारी मंडल युवा मोर्चा अध्यक्ष अभिलाष लोनिया सहित कार्यकर्ताओ ने तखतपुर विधायिका श्रीमती रश्मि आशीष सिंह जी के निवास के सामने धरना दिया। और उन्हें एक ज्ञापन पत्र सौंपा जिसमे युवा बेरोजगार को 2500 रुपये के हिसाब से 30 माह का 75000 रुपये तत्काल देने। शराबबंदी तत्काल लागू करने, बुजुर्गों के लिए जो पेंशन का वादा किया उसे तत्काल चालू करने, की मांग करते हुए अपने वादे निभाने छत्तीसगढ़ की जनता के साथ न्याय करने की मांग की ।


छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की सरकार बनते ही प्रदेश के सभी नगरों और गांवों में विकास कार्य पूरी तरह से रुके हुए हैं। यहां तक कि जिन वायदों के सहारे भूपेश बघेल की सरकार ने सत्ता सम्हाला था अभी तक उन वायदों को पूरा करने में भी नाकाम साबित हुआ है। एक ओर स्वास्थ्य, कानून व्यवस्था, शराब बंदी और युवाओं को बेरोजगारी भत्ता, रोजगार, और प्रदेश को कोरोना महामारी से बचाव के सारे प्रबंधन तथा वैक्सिनेशन के मामले में भूपेश सरकार पूरी तरह से विफल हो चुकी है, वहीं दूसरी ओर कोरोना महामारी के चलते आर्थिक तंगी से परेशान युवाओं को बेरोज़गार रख, अन्नदाता किसानों को धान की बोनस राशि को विलंब में तथा किस्तों में देकर अपनी बदनीयती को भी प्रदर्शित कर रही है।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

Please Share This News By Pressing Whatsapp Button 

error: Content is protected !!
Buero Report
लोकल खबरें