प्रधानमंत्री मोदी ने अपनी नाकामी छुपाने मंत्रिमंडल में किया बदलाव : सुनील सिंह

Buero Report

प्रधानमंत्री मोदी ने अपनी नाकामी छुपाने मंत्रिमंडल में किया बदलाव : सुनील सिंह

चेहरा बदलने से क्या होगा, हालात बदलने चाहिये, देश बचाने मंत्री नही, सरकार बदलनी चाहिये : सुनील सिंह

कृष्णानाथ टोप्पो ( संभागीय ब्यूरो सरगुजा )

बलरामपुर  । प्रधानमंत्री मोदी मंत्रिमंडल में किए गए बदलाव पर बलरामपुर-रामानुजगंज कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता सुनील सिंह ने तंज कसते हुए कहा कि, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी नाकामी छुपाने मंत्रिमंडल में बदलाव किया है। सुनील सिंह ने कहा, चेहरा बदलने से क्या होगा, हालात बदलने चाहिये, देश बचाने मंत्री नही, सरकार बदलनी चाहिये।

कांग्रेस प्रवक्ता सुनील सिंह ने कहा कि, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, आरएसएस, भाजपा एवं एनडीए के तमाम सहयोगी दल इस बात के जिम्मेदार हैं जो उन्होंने, महंगाई, किसान, मजदूर, रोजगार, महिला सुरक्षा, सेना सुरक्षा, कालाधन जैसी समस्या को दूर करने बड़े बड़े वायदे जनता से किए मगर पूरा नहीं किया। नोटबन्दी, जीएसटी जैसे अपरिपक्व निर्णयों ने देश की अर्थ व्यवस्था को पूरी तरह तोड़कर रख दिया। देश को धर्म जाति समाज के नाम पर भड़काया जा रहा है, विघटनकारी ताकतों के हौसले बुलंद हैं। देश के संविधान कानून की धज्जियाँ उड़ायी जा रही है। न्यायपालिका हो या कार्यपालिका पर बहुमत के दम पर मनमानी की जा रही है। लोकतांत्रिक प्रक्रिया से चुनी हुई सरकारों को असंवैधानिक तरीके से अनैतिक रूपयों के दम पर खुलेआम जनप्रतिनिधियों की खरीदी कर अस्थिर किया जा रहा है।

कांग्रेस प्रवक्ता सुनील सिंह ने कहा कि, भारत में कोरोना, मोदी सरकार की लापरवाहीयों की ही देन है। कोरोना संक्रमण के शुरुआती दौर में गैर जिम्मेदाराना रवैया के चलते करोड़ों लोग संक्रमित हुए तो वही लाखों लोगों की मौतें हुई। ऑक्सीजन की कमी, गंगा जी मे बहती लाशों के हृदयविदारक दृश्य को देश ने देखा है। प्राणरक्षक वैक्सीन पर आज तक स्थित स्पष्ट न होने की वजह से टीकाकरण बार-बार अवरुद्ध हो रहा है। दिसंबर तक देश के हर नागरिक को टीकाकरण कर लेने का दावा किया गया है जो एक और झूठ साबित होता दिख रहा है। देश में वैक्सीन अभियान के नाम पर बड़े-बड़े दावे किए जा रहे हैं जिसमें कहा जा रहा है कि पहली डोज के तौर पर हमने करीब 20 फ़ीसदी आबादी को वैक्सीन दे दी है लेकिन जब हम इसी संख्या को दूसरी डोज के साथ देखते हैं तो यह आंकड़ा महज 4 फ़ीसदी के आसपास रह जाता है जो कि दुनिया भर के दूसरे मुकाबले के मुकाबले काफी कम है टीकाकरण की यह सुस्त रफ्तार सभी को चिंतित करने वाली है इस कमी के पीछे जिम्मेदारों के जो तर्क हैं वह अपने आप में अनूठे हैं, तो फिर सवाल लाजमी है कि जब राज्यों ने क्षमता विकसित कर ली है तो फिर उसके लिए निर्बाध आपूर्ति को लेकर केंद्र सरकार की ओर से क्या प्रयास किया जा रहा है पर मोदी जी सिर्फ मंत्रिमंडल को बदलने में व्यस्त हैं।

कांग्रेस प्रवक्ता सुनील सिंह ने कहा कि, कोरोनाकाल के उपजे हालातों से देश की जनता आर्थिक रूप से कमजोर और परेशान हो चुकी है, गरीब मध्यमवर्गीय लाखों लोगों की रोजी-रोटी छीनी जा चुकी है, अनेक बेरोजगार हो गये, आय का साधन समाप्त हो गया है इन विपरीत परिस्थितियों में खाद्य पदार्थ एवं खाद्य तेल से लेकर पैट्रोल डीजल के मूल्य में बेतहाशा वृद्धि हुई है। पिछले 7 सालों में पेट्रोल-डीज़ल के मूल्यों में वृद्धि कर मोदी सरकार 22 लाख करोड़ से ज्यादा कमाई कर चुकी है, लेकिन इस दौरान आम आदमी के हाथ में सिवाय बेबसी और लाचारी के और कुछ नहीं आया है।

कांग्रेस प्रवक्ता सुनील सिंह ने कहा कि, केंद्रीय मंत्रिमंडल में बदलाव से हालात बदलते हैं तो सबसे पहले देश के प्रधानमंत्री जी को बदलना चाहिए। आरएसएस भाजपा के लिए यह असंभव है, मगर देश की जागरूक जनता आने वाले चुनाव में यह अवश्य तय करेगी।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

Please Share This News By Pressing Whatsapp Button 

error: Content is protected !!
Buero Report
लोकल खबरें