मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ योजना से 65 हजार से अधिक मरीजों का किया गया इलाज कोरोना के दौर में भी मरीजो का नही टूटा भरोसा, घर तक पहुंचा अस्पताल

India news live 24

मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ योजना से 65 हजार से अधिक मरीजों का किया गया इलाज
कोरोना के दौर में भी मरीजो का नही टूटा भरोसा, घर तक पहुंचा अस्पताल

राजेन्द्र प्रजापति

बिलासपुर । कोरोना संक्रमण के दौर में जब अधिकांश अस्पतालो में सामान्य मरीजांे का इलाज बंद पड़ा था, एैसी कठिन परिस्थिति मे मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ योजना के तहत मेडिकल मोबाईल युनिट शहर के झुग्गी बाहुल्य गलियो, मोहल्लो में जाकर सामान्य बिमारियों के मरीजो को उपचार उपलब्ध करा रहा था। इस दौरान राज्य में सर्वाधिक मरीजो को इलाज बिलासपुर शहर में सुलभ हुआ। हजारो मरीजो को चिकित्सा मुहैया करा कर उनकी जीवन रक्षा में मदद की गई। योजना के तहत नौ माह में 65 हजार से अधिक मरीजो को लाभान्वित किया गया है। इसके अतिरिक्त कोरोना का टीका भी मोबाईल युनिट के जरिए लगाया जा रहा है।

मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ योजना के तहत मेडिकल मोबाईल युनिट की उपलब्धता के आधार पर बिलासपुर नगर निगम क्षेत्र में पूरे प्रदेश मे सबसे अधिक गरीबो का मुफ्त इलाज किया गया है। योजना के तहत मेडिकल मोबाईल युनिट के जरिए माह नंवम्बर 2020 से अब तक 65 हजार 88 मरीजों का इलाज किया गया तथा 61076 मरीजों को निःशुल्क दवाईयां वितरित की गई।

शहरी क्षेत्र के स्लम एरिया के निवासियो को बेहतर स्वास्थ सुविधा मुहैया कराने के उद्धेश्य से इस योजना के तहत निःशुल्क इलाज की सुविधा दी जा रही है। योजना के तहत अब तक 220 शिविर आयोजित किये जा चुके है।

निःशुल्क उपचार के साथ जांच के लिए लैब की सुविधा

मेडिकल मोबाईल युनिट में गंभीर बिमारियों को छोड़कर सभी प्रकार की सामान्य बिमारियों का इलाज किया जाता है। इसमे लैब की सुविधा भी उपलब्ध है जिसमे आवश्यकता अनुसार ब्लड, यूरिन जांच, सीबीसी, मलेरिया, जैसे रोगों का निःशुल्क जांच किया जाता है। युनिट में ईसीजी, ब्लड प्रेशर, पल्स आॅक्सीमीटर जैसे स्वास्थ उपकरण उपलब्ध है। माह नंवम्बर से अब तक 9 हजार से अधिक लोगों का निःशुल्क जांच किया जा चुका है।

दाई-दीदी क्लीनिक में 15 हजार से अधिक महिलाओं का किया गया उपचार
मुख्यमंत्री श्री भुपेश बघेल के पहल पर महिलाओं के लिए विशेष तौर पर दाई-दीदी क्लीनिक प्रारंभ किया गया है। बिलासपुर शहर में नौ माह के भीतर 198 शिविर के जरिए 15 हजार से अधिक महिला मरीजांे का उपचार किया गया है। इसके अलावा 2657 महिलाओं की निःशुल्क जांच तथा 14 हजार से अधिक महिलाओं को निःशुल्क दवा वितरित की गई है।

 

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

Please Share This News By Pressing Whatsapp Button 

error: Content is protected !!
India news live 24
लोकल खबरें